पैनासोनिक ग्रुप के बुनियादी व्यावसायिक सिद्धांत 8. स्वायत्त उत्तरदायित्वपूर्ण प्रबंधन

पैनासोनिक ग्रुप में, प्रबंधन केवल वरिष्ठ कार्यकारी अधिकारियों की जिम्मेदारी नहीं होती है। कंपनी की नीतियों का पालन करते हुए, सभी कर्मचारियों को स्वयं को अपने प्रबंधक के रूप में देखना चाहिए और अपने काम के लिए स्वतंत्र रूप से जिम्मेदार होना चाहिए। यह स्वायत्त उत्तरदायित्वपूर्ण प्रबंधन की बुनियादी अवधारणा है।

हमारे संगठनों में, निगमित प्रबंधन सिद्धांत और नीतियों के आधार पर हममे से प्रत्येक व्यक्ति को अपने काम की जिम्मेदारी लेनी चाहिए और अथक रूप से सुधार करने चाहिए। स्वायत्त उत्तरदायित्वपूर्ण प्रबंधन, पैनासोनिक ग्रुप के प्रबंधन के आधार-स्तंभों में से एक है और यह वह संस्कृति भी है जिसने हमारे मानव संसाधनों को फलने-फूलने में मदद की है।

व्यवसाय में स्वायत्त उत्तरदायित्वपूर्ण प्रबंधन सुनिश्चित करने की कुंजी के रूप में, संस्थापक महोदय ने सिखाया, "सबसे पहले, तो प्रबंधकों में स्वयं उनके मिशन और प्रबंधन सिद्धांत की बढ़िया समझ होनी चाहिए और उन्हें सदैव इसके लिए अपील करना चाहिए और अपने कर्मचारियों में इन्हें भरना चाहिए" और "प्रबंधकों को अपने कर्मचारियों को व्यापक रूप से जिम्मेदारियाँ सौंपने में भयभीत नहीं होना चाहिए। उनकी अपनी जिम्मेदारी और प्राधिकार के आधार पर उन्हें काम करने की अनुमति मिलनी चाहिए।"

इंसान के रूप में, जब हम अपना काम और इसका महत्व देख पाते हैं, तो इससे हमें असीम रूप से ऊर्जा प्राप्त होती है। इस तरह प्रेरित होने पर, हम बुद्धिमत्ता एकत्रित करके और सुधार करके अपनी शक्तियों का अग्रसक्रियता के साथ उपयोग कर सकते हैं। इस तरह से वरिष्ठ प्रबंधकों को अपने अधीनस्थों को कार्य सौंपते समय उक्त प्रेरणा उत्पन्न करने की कोशिशें करनी चाहिए। इससे प्रत्येक व्यक्ति को उनके काम में संतुष्टि की भावना महसूस हो सकेगी जिसके कारण आनंद और प्रसन्नता आएगी। यह स्वायत्त उत्तरदायित्वपूर्ण प्रबंधन की अंतर्निहित अवधारणा है।

यह समझाने के लिए कि कर्मचारियों का अपने काम के प्रति कैसा नजरिया होना चाहिए, संस्थापक महोदय ने "कर्मचारी उद्यमशीलता" शब्द का उपयोग किया। उन्होंने कर्मचारियों से अपने स्वयं के व्यक्तिगत उद्यम का प्रेजीडेंट या स्वामी होने की सोच अपनाने को कहा और इसी को ध्यान में रखते हुए अपने काम को देखने, स्थितियों को समझने और अपने फैसले लेने के लिए कहा।

कर्मचारी उद्यमशीलता सिद्धांत को लागू करते हुए, यह अनिवार्य है कि हममें से प्रत्येक व्यक्ति अपने कर्तव्य पूरे करते हुए बेहतर तरीके और साधन निर्मित करते हुए, उन्हें साहसपूर्वक लागू करते हुए और श्रेष्ठतम परिणाम हासिल करने को अपना लक्ष्य बनाते हुए अपनी सभी क्षमताओं को समर्पित करने की जिम्मेदारी की भावना रखे।

मात्सुशिता हाउसिंग प्रोडक्ट के भूतपूर्व अध्यक्ष, मोरीसामा ओगावा माइक्रोवेव अवन व्यवसाय से इसकी आरंभिक अवस्था में जुड़ें और उन्होंने इसे वैश्विक व्यवसाय बना दिया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कर्मचारी में स्वायत्त उत्तरदायित्व की भावना होनी चाहिए। इस सोच को लगातार लागू करते हुए, आइए हम सभी स्वयं को अपने कामों के प्रति समर्पित करें।

संस्थापक महोदय ने स्टाफ के युवा सदस्यों को कर्मचारी उद्यमशीलता की अवधारणा समझाते हुए किसी स्वतंत्र व्यावसायिक निकाय को एक नूडल शॉप के समान बताया। उन्होंने कर्मचारियों से नूडल शॉप के मालिक जैसी सोच अपनाने को कहा जो नूडल बेचने के लिए कड़ी मेहनत करता है, स्वाद के बारे में ग्राहकों से रोजाना उनका फ़ीडबैक लेता है और उनके फ़ीडबैक के आधार पर सुधार करता है। उन्होंने कहा कि इस तरह के प्रयास और उत्साह हमारे व्यक्तिगत कार्य के लिए भी अनिवार्य होंगे।

चाहे आप किसी बड़े संगठन के सदस्य हैं, केवल आपको सौंपे गए कार्य को करना और स्थापित प्रणालियों और प्रक्रियाओं का पालन करना ही पर्याप्त नहीं है। यह आवश्यक है कि हममें से प्रत्येक व्यक्ति लगातार सोचता रहे और उन्हें बेहतर बनाने के लिए सुधार करता रहे।

लगातार परिवर्तित और विकसित हो रहे समाज में, हमारे ग्राहक हमें लगातार चुनना जारी नहीं रखेंगे यदि हम सोचने के अपने स्वयं के तरीके और नजरिये के अनुसार ही काम करते रहेंगे। हमें इस बारे में सोचना चाहिए कि आज की सर्वश्रेष्ठ चीज कल की सबसे अच्छी चीज नहीं रहेगी और आने वाले कल को उस दिन की सर्वश्रेष्ठ चीज बनानी पड़ेगी। इस सोच के आधार पर, हमें सदैव ऊँचे लक्ष्य रखने चाहिए।

1933 में लागू किए गए व्यापार विभाजन प्रणाली ने ठोस तरीके से स्वायत्त उत्तरदायित्वपूर्ण प्रबंधन की अवधारणा को व्यक्त किया। प्रणाली एक स्वतंत्र लाभकारी सांगठनिक संरचना है जिसमें पूरी कंपनी उत्पाद के अनुसार व्यापार में विभाजित होती है, जबकि विकास, निर्माण से लेकर बिक्री और लाभ व हानि नियंत्रित करने तक प्रत्येक चीज के लिए प्रत्येक विभाजित व्यापार जिम्मेदार होती है। विभाजित व्यापार के लिए अपने प्रबंधन की स्वयं जिम्मेदारी उठाना आवश्यक था, जिससे निदेशकों और कर्मचारियों का विकास हुआ। इस तरह से आज का पैनासोनिक ग्रुप अस्तित्व में आया।

मूल व्यापार दर्शन को अभ्यास में लाने के लिए प्रत्येक कर्मचारी का पालन करने के लिए व्यवहार दिशानिर्देशों का एक सेट।